Home APNA BIHAR बिहार में लॉकडाउन की अवधि को 1 जून से बढ़ाकर किया गया...

बिहार में लॉकडाउन की अवधि को 1 जून से बढ़ाकर किया गया 8 जून – पढ़िये लॉकडाउन 4 में क्या-क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद?

Bihar has complete lockdown from May 5 to May 15

Bihar Lockdown Update– आज दिनांक 31-05-21 को बिहार में लॉकडाउन कि अवधि 1जून से बढ़ाकर 8 जून तक कर दी गई है। सरकार ने यह फैसला लॉकडाउन के कारण कोरोना महामारी से उत्पन्न हुई परिस्थितियों में सकारात्मक बदलाव को देखते हुए लिया है। लॉकडाउन 4 में नियमों में कुछ बदलाव किए गए है। इस फैसले की जानकारी स्वं मुख्यमंत्री ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करके दी।

लॉकडाउन 4 के दिशा निर्देश और नियमों को आप नीचे दिये गए डाउनलोड लिंक पर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते हैं।

Bihar has complete lockdown from May 5 to May 15 – कोरोना कि विभीषिका को देखते हुए बिहार में 15 मई तक कंप्लीट लॉकडाउन कि घोषणा कर दी गई है।

मुख्यमंत्रि नीतीश कुमार ने ट्वीट का इसकी जानकारी दी। बिहार में लॉकडाउन का प्रारूप कैसा होगा क्या खुलेगा, कब खुलेगा इसकी विस्तृत जानकारी नीचे दी गई है।

समस्त बिहार वासियों को जिस फैसले का इंतज़ार कल शाम से हीं था वह फैसला ले लिया गया है, आज मंत्रीपरिषद और आपदा प्रबंधन समूह के अलावे अन्य पदाधिकारियों से विचार विमर्श करने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार में 15 मई तक कंप्लीट लॉकडाउन लगाने का निर्णय किया।

अब यह भी जान लीजिये की बिहार मे कल से लेकर 15 मई तक क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद ?

बिहार के लोगों के ज़हन में पिछले लॉकडाउन की तस्वीरे अभी ताज़ी है, जिस तरह पिछले वर्ष लॉकडाउन के कारण कितने हीं गरीब मजदूर बेरोजगार हो गए थे, भारी संख्या में बिहारी कामगारों का पलायन अलग-अलग महानगरों से हुआ था, छोटे व्यवसायियों को ब्यापार में ऐसा नुकसान हुआ जिसकी भरपाई आज तक नहीं हुई।

उम्मीद यही है कि सरकार पिछले लॉकडाउन से सबक लेते हुए इस वर्ष लॉकडाउन के नियमों और शर्तों को सोच समझ कर तय करेगी और उसे अधिक प्रभावी तरीके से गरीबों को भुखमरी का शिकार हुए बिना लागू कर पाने में सफल रहेगी।

आपको यह याद हीं होगा कि पिछले साल लॉकडाउन में सारे प्राइवेट डॉक्टर और क्लीनिक सभी बंद पड़े थे जिसके कारण कितने हीं गंभीर रोग से पीड़ित रोगियों को असुविधा का सामना करना पड़ा था, और कितनों कि तो मौत भी हो गई थी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version